Holi 2022 Date: होली हिन्दू धर्म का एक सबसे महत्वपूर्ण त्योहार में से एक है | हिंदू पंचाग के हिसाब से होली का त्योहार फाल्गुन मास की पूर्णिमा (Fagun Month Purnima 2022) के दिन मनाया जाता है. जैसे की हम सब जानते है लोग नए साल की शुरुआत होते ही सालभर में आने वाले त्योहारों के बारे में जानना चाहते हैं

होली 2022, साल का सबसे बड़ा पहला त्योहार है.इस साल 2022 में होली (Holi 2022) का त्योहार 18 मार्च के दिन पड़ रही है. वहीं, छोटी होली होलिका दहन 17 मार्च (Holika Dahan 17th March) को किया जाएगा, जिसे लोग के नाम से भी जानते हैं.

होली का त्यौहार हर साल बहुत ही उत्साह और उमंग के साथ मनाया जाता है। त्योहार आम तौर पर फाल्गुन के महीने में पूर्णिमा (पूर्णिमा) के दिन पड़ता है। यह लगातार दो दिनों में फैला हुआ है – होली holi 2022 के पहले दिन को छोटी होली या होलिका दहन के रूप में जाना जाता है और दूसरे को रंगवाली होली, धुलेती, धुलंडी या धूलिवंदन के रूप में जाना जाता है। इस साल होली 9 और 10 मार्च को मनाई जाएगी। यह दिन बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है।

होली के एक दिन पहले एक विशाल अलाव जलाया जाता है। इस दिन को छोटी होली के रूप में जाना जाता है और लोग अपने प्रियजनों के लिए प्रार्थना करने के लिए इसके आसपास इकट्ठा होते हैं। वे एक पूजा करते हैं जिसे ‘पिंगपूजा’ के नाम से जाना जाता है।

रंगों के साथ उत्सव दूसरे दिन शुरू होते हैं, जिसे रंगों के दंगल के रूप में वर्णित किया जा सकता है।

किंवदंती के अनुसार, भगवान कृष्ण स्पष्ट रूप से वृंदावन और गोकुल में रंगों के साथ त्योहार मनाते थे। इसका सम्मान करने के लिए, कई लोग कई जगहों पर एक मानव पिरामिड बनाते हैं, जो कुछ ऊंचाई पर लटका हुआ छाछ से भरे बर्तन को तोड़ने के लिए होता है।

[lwptoc min=”2″ depth=”6″]

Holi 2022 में कब मनाई जाएगी होली? (When Is Holi In 2022, 2022 ka holi kab hai)

पौराणिक कथावो में मान्यता है कि होलिका दहन के साथ आग में अपने अहंकार और बुराई को भी भस्म किया जाता है. इस बार होलिका दहन (Holika Dahan 2022) 17 मार्च को किया जाएगा और साथ ही साथ रंगों का त्योहार होली, होलिका दहन के एक दिन बाद यानि इस साल 18 मार्च को खेली जाएगी.

मान्यता है कि होली की भद्रा काल में होलिका दहन को अशुभ माना जाता है.

वहीं, ये भी मान्यता है कि होलिका दहन Holika dahan 2022 , फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि में ही होना चाहिए. होलिका दहन के लिए सबसे शुभ मुहूर्त इस साल रात 9 बजकर 03 मिनट से रात 10 बजे 13 मिनट तक का होगा. पूर्णिमा तिथि की शुरुआत 17 मार्च को दिन में 1 बजकर 29 बजे शुरू होगी और पूर्णिमा तिथि के समाप्त होने का समय 18 मार्च दिन में 12 बजकर 46 मिनट पर होगा.

होली की पौराणिक कथा (Holi 2022 Story)

होली की पहली रात को लोग अलाव जलाते हैं और उन पर भुना हुआ अनाज, पॉपकॉर्न, नारियल और छोले फेंकते हैं।अगले दिन, सभी उम्र के लोग मस्ती और पेंट-फेंकने के लिए सड़कों पर उतरते हैं। हर कोई शामिल हो जाता है!हिंदू एक दूसरे को रंग लगाकर और रंगीन पानी फेंक कर मौज-मस्ती करते हैं।

पौराणिक कथा के मान्यता के अनुसार प्राचीन काल में हिरण्यकश्यप नाम का एक असुर राजा था.जो बहुत ही अहंककरी और क्रूर शसक था उसने घमंड में चूर होकर खुद को ही ईश्वर होने का दावा कर दिया था. इतना ही नहीं, हिरण्यकश्यप ने राज्य में ईश्वर के नाम लेने पर ही पाबंदी लगा दी थी तथा यदि कोई ईश्वर का नाम लेता था तो उसे मौत के घाट उतर देता था. वही उसके उलट, हिरण्यकश्यप का पुत्र प्रह्लाद ईश्वर भक्त था. और हिरण्यकश्यप की बहन होलिका को आग में भस्म न होने का वरदान मिला हुआ था.

हिरण्यकश्यप ने इसी का वहारा लेकर एक बार हिरण्यकश्यप ने होलिका को आदेश दिया कि प्रह्लाद को गोद में लेकर आग में बैठ जाए ताकि प्रह्लाद की मौत हो जाये और होलिका बच जाये. लेकिन आग में बैठने पर होलिका जल गई और प्रह्लाद बच गया. और तब से ही ईश्वर भक्त प्रह्लाद की याद में होलीका दहन किया जाने लगा.

Holi 2022 Date Hindi

होलिका दहन 17 मार्च दिन गुरुवार को है, ऐसे में होली 2022 का त्योहार 18 मार्च दिन शुक्रवार को मनाया जाएगा. 18 मार्च को रंगों वाली होली खेली जाएगी

होली शायरी | Happy Holi 2022 Shayari in Hindi

Holi 2022 Shayari #1

सभी रंगों का रास है होली,
मन का उल्लास है होली
जीवन में खुशियां भर देती है,
बस इसीलिए ख़ास है होली।
हैप्पी होली…

Holi 2022 Shayari #2

लाल गुलाबी रंग है
झूम रहा संसार
सूरज की किरण
खुशियों की बहार
चाँद की चांदनी अपनों का प्यार
मुबारक हो आपको होली का त्यौहार

Holi 2022 Shayari #3

गुलाल का रंग, गुब्बारों की मार,
सूरज की किरणे,खुशियों की बहार,
चाँद की चांदनी, अपनों का प्यार,
मुबारक हो आपको रंगों का त्यौहार.